Breaking News

Uttar pradesh

गुस्साई भीड़ ने नोटबंदी के खिलाफ पीएम मोदी को बताई उसकी औकात: देखें विडियो

नोटबंदी के खिलाफ जनता गुस्सा फूटता दिखाई दे रहा है। नोटबंदी का फैसला कालाधन और भ्रष्टाचार पर रोक लगाने के लिए लिया गया था, लेकिन नोटबंदी के बाद पहले से ज्यादा बाजार में नए नोट नकली आ चुके है और इससे ज्यादा कालाधन इकट्ठा होने लगा है। अभी तक नोटबंदी के फैसले को एक महिना भी नहीं गुजरा है और नकली नोटों का बाजार और ज्यादा बढ़ गया है। बैंकों से भी घोटाले सामने आ रहे है जिसको देखते हुए देश की जनता ज्यादा गुस्से में दिखाई दे रही है।
नेशनल दस्तक ने देश की राजधानी दिल्ली में भीड़ में खड़े लोगों का इंटरव्यू लिया और नोटबंदी पर उनकी प्रतिक्रिया ली। जिनमें 80 फीसद से ज्यादा लोग ऐसे मिले जो इस फैसले के खिलाफ खड़े है। इन बैंकों की कतारों में लगने वाले ज्यादातर आम आदमी और मजदूर तबके के लोग ज्यादा है। इस विडियो में आप देख सकते है कि, किस तरह मोदी सरकार के खिलाफ इन लोगों का गुस्सा फूट रहा है। ये लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ नारे प्रदर्शन भी करते हुए नजर आ रहे है।

इन कतारों में लगे कई लोग बहुत दूर से आये हुए है और कई लोग तो ऐसे भी है जो देर रात ही इन एटीएम मशीनों के आगे लाइन में लगे हुए है। लेकिन फिर भी उन्हें अभी तक कोई कैश सुविधा नहीं मिला है। इन लोगों ने नोटबंदी की पूरी पोल खोल दी है और ज्यादातर लोग सभी गुस्से में दिखाई दे रहे है। इन लोगों ने बताया कि, घर में राशन के लिए भी पैसे नहीं है और जहाँ एक तरह कैश की किल्लत से परेशानी हो रही है वहीँ दूसरी ओर कैश मिलने के बावजूद भी इनकी परेशानी बढ़ी हुई है।

क्योंकि दो हजार के नोट इन आम लोगों के लिए बहुत बड़ा नोट है और पांच सौ और एक हजार के नोटों पर प्रतिबंध लगाने के बाद आम जनता के लिए यह बड़ी दुविधा बनी हुई है कि, जहाँ पर ये लोग सामान खरीदने जाते है वहां पर भी उन्हें वापस पैसे नहीं मिलते है इसलिए दो हजार के नोट से भी सामान खरीदना आम जनता के लिए मुश्किल हो रहा है। नेशनल दस्तक की इस पत्रकार ने महिलाओं से भी बातचीत की और महिलाओं ने बताया कि, उनके घर में राशन तक के पैसे नहीं है बच्चों को दूध पिलाने और उनकी फीस भरने के भी पैसे उनके पास मौजूद नहीं है
https://youtu.be/Y8x-MxhsBvo


इसके साथ ही इन लोगों ने बताया कि, छ: महीने पहले से ये प्लान चल रहा था, तो मोदी ने अपने दोस्तों और अपने नेताओं का कालाधन पहले ही ठिकाने लगा दिया। लेकिन नोटबंदी के कारण सिर्फ आम आदमी को ही तकलीफों और दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इनमें से एक आदमी जो इस फैसले का समर्थन कर रहा था तो वहां खड़े लोगों ने बताया कि, ऐसी देशभक्ति से अच्छा तो मर जाना है। इसके अलावा दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ प्रदर्शन किये जा रहे है कई जगहों पर उनके पुतले भी फूंके जा रहे है। लोग नारे लगा रहे है “नोट नहीं पीएम बदलो” ऐसे नारे दिल्ली में सुनाई दे रहे है।

No comments